Thursday, February 29, 2024
spot_imgspot_img
spot_imgspot_img
spot_imgspot_img
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडUttarakhand: कोरोना की चौथी लहर के बीच चारधाम यात्रा के लिए नेगेटिव...

Uttarakhand: कोरोना की चौथी लहर के बीच चारधाम यात्रा के लिए नेगेटिव RTPCR रिपोर्ट अनिवार्य

देहरादून: देश में कोरोना की चौथी लहर की बढ़ती रफ़्तार के बीच उत्तराखंड में 3 मई से शुरू होने जा रही चार धाम की यात्रा की तैयारी कर रहे श्रद्धालुओं के लिए जरूरी खबर है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चार धाम की यात्रा के लिए धामी सरकार का बड़ा फैसला, कोविड की नेगेटिव आरटीपीसीआर (RTPCR) रिपोर्ट को साथ लाना अनिवार्य कर दिया गया है। नेगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट के बिना किसी को भी यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने चार धाम यात्रियों के लिए नेगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट साथ लाना अनिवार्य कर दिया है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार यात्रा से पहले एक नई एसओपी जारी कर सकती है । चूंकि 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर (RTPCR) रिपोर्ट अनिवार्य होती है तो इस यात्रा के लिए भी संभवत: यात्रियों को 72 घंटे पहले की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट लाना अनिवार्य किया जाएगा। यात्रा शुरू होने में अब केवल 5 दिन शेष बचे हैं, ऐसे में सरकार का सबसे ज्यादा ध्यान कोरोना के बढ़ते मामलों पर है। यात्रा के लिए देश के अलग-अलग राज्यों से यात्री देहरादून आएंगे। ऐसे में सरकार नहीं चाहती की यात्रियों के साथ प्रदेश में कोरोना वायरस की भी एंट्री हो । इसलिए सरकार हर तरह की सावधानी बरतना चाहती है।

- Advertisement -

यह भी पढ़े: राज्यपाल ले0 जन0 गुरमीत सिंह की अध्यक्षता में चारधाम यात्रा की उच्च स्तरीय बैठक जारी

RELATED ARTICLES
Advertismentspot_imgspot_img
Advertismentspot_imgspot_img

Most Popular